अमलेंदु उपाध्याय

Corona virus: कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को और बढ़ा सकता है वायु प्रदूषण

  • Mar 20, 2020

वायु प्रदूषण के उच्च स्तर वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोग, कोरोना वायरस (COVID19) के प्रभावों के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं, क्योंकि उनके फेफड़े वायु प्रदूषण के चलते कमज़ोर हो जाते हैं। यह चेतावनी वायु प्रदूषण के स्वास्थ्य प्रभावों पर काम कर रहे डॉक्टरों के एक समूह ने दी है। डॉक्टर्स फ़ॉर क्लीन एयर (डीएफसीए) ने

पूरी पढ़ें

पर्यावरण परिवर्तनः बिजली क्षेत्र में CO2 उत्सर्जन में आई 2 प्रतिशत की गिरावट

  • Mar 13, 2020

हाल ही में जारी एक अंतर्राष्ट्रीय जलवायु थिंक-टैंक की रिपोर्ट से पता चला है कि दुनिया भर में कोयले से बनने वाली बिजली के उत्पादन में तीन फीसदी की गिरावट के चलते बिजली क्षेत्र में कार्बन डाइ ऑक्साइड के उत्सर्जन में दो फीसदी की गिरावट आई है। रिपोर्ट के मुताबिक कोयले का इस्तेमाल यूरोपीय संघ और अमेरिका में काफी हद

पूरी पढ़ें

कोरोनोवायरस से ज्यादा घातक है वायु प्रदूषण? जानिए क्या कहती है रिपोर्ट?

  • Feb 29, 2020

पहले भी कई रिपोर्ट्स में कहा जा चुका है कि विश्व की नब्बे फीसदी आबादी असुरक्षित हवा में सांस ले रही है और वायु प्रदूषण मानव स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़े खतरों में से एक है। हाल ही में जारी 2019 विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट और आईआक्यू एयर द्वारा संकलित नवीनतम आंकड़ों के आधार पर सबसे प्रदूषित शहरों की रैंकिंग से 2019 के

पूरी पढ़ें

महासागरों के 55 फीसदी प्रदूषण के लिए बड़ी कंपनियां जिम्मेदार, संकट में शार्क मछली का जीवन

  • Feb 25, 2020

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा शार्क मछली पालक देश है। शार्क मछलियों को उनके मांस और पंखों के लिए पकड़ा जाता है। शार्क के पंख मालवन से मडगांव और मंगलूरु जैसे दो प्रमुख मछली व्यापार केंद्रों से चीन और जापान में भेजे जाते हैं। इसी तरह, पोरबंदर से ओखा, वैरावल, मुम्बई, कालीकट और कोच्चि से होते हुए सिंगापुर, हांगकांग और द

पूरी पढ़ें

क्या वाकई पं. नेहरू अपने मंत्रिमंडल में सरदार पटेल को नहीं शामिल करना चाहते थे?

  • Feb 16, 2020

हाल ही में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक किताब का हवाला देते हुए माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा था कि पं. नेहरू अपने मंत्रिमंडल में सरदार पटेल को नहीं शामिल करना चाहते थे। उनके इस ट्वीट पर इतिहासकार रामचंद्र गुहा से उनकी नोंक झोंक भी हुई। खास बात यह है कि देश के विदेश सचिव रहे एस. जयशंकर जैसे जेएनयू प्रो

पूरी पढ़ें

निर्भया दुष्कर्म  फैसले से सीख

  • Jan 11, 2020

सात साल पहले निर्भया के साथ राजधानी दिल्ली के मुनिरका में हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना ने ना केवल देश को दहला दिया था बल्कि बर्बरता की भी ऐसी बानगी सामने रखी थी कि हर माता-पिता के मन में भय का स्याह अंधेरा छा गया था। इस अमानवीय और क्रूर मामले ने बेटियों की असुरक्षा से जुड़ीं दर्दनाक स्थितियां ही नहीं, महिलाओं के प्रत

पूरी पढ़ें