नाग्रीजुली में असम नेपाली साहित्य सभा की शिलाप्रतिक उदघाटन

कवि गोपाल खड़का स्मृति कविगोष्ठी अनुष्ठित

नाग्रीजुली में असम नेपाली साहित्य सभा की शिलाप्रतिक उदघाटन

असम नेपाली साहित्य सभा बाक्सा जिला समिति की सौजन्य से अौर हरिभक्त साहित्य संस्कृति समिति नाग्रीजुली की सहयोग से कवि गोपाल खड़का स्मृति कविगोष्ठी अौर असम नेपाली साहित्य सभा की शिलाप्रतिक उदघाटन अनुष्ठान बाक्सा जिले के तामुलपुर महकमा अंतर्गत भारत-भूटान सीमावर्ती नाग्रीजुली में अनुष्ठित हुइ. कार्यसुची के मुताविक सुबह 9.30 बजे असम नेपाली साहित्य सभा की ध्वाजा उत्तोलन बाक्सा जिला नेपाली साहित्य सभा के सभापति गोपाल शर्मा ने की.

सुबह 10 बजे असम के पुर्व मंत्री तथा असम गोर्खा सम्मेलन के पुर्व सभापति पदम बहादुर चौहान ने असम के नेपाली साहित्य जगत के श्रष्टा कवि हरिभक्त कटुवाल की प्रतिमा पर माल्यर्पण की अौर हरिभक्त साहित्य संस्कृति समिति के प्रतिष्ठापक कर्मी लोहित उप्रेती ने दीप प्रज्वलन की. 11.30 बजे असम नेपाली साहित्य सभा की छेत्रीय सचिब काली प्रसाद भुषाल ने नेपाली साहित्य सभा की शिलाप्रतिक उदघाटन किया. मालुम हो की राज्य में नेपाली साहित्य सभा की पहली शिलाप्रतिक है़.

दोपहर 12 बजे से बरिष्ट साहित्यिक तथा असम नेपाली साहित्य सभा केंद्रीय समिति के सदस्य बद्री गुरागाँई की संचालन में कवि गोपाल खड़का स्मृति कविगोष्टी अनुष्ठित हुइ. इस कविगोष्ठी का उदघाटन असम नेपाली साहित्य सभा केंद्रीय समिति के सचिब रुद्र बराल ने की. साथ ही उन्होने 7 कविओ की कविता संकलन "साहित्यबाटीका" पुस्तक बिमोचन की. इस अनुष्ठान में बाक्सा जिले से नेपाली साहित्य सभा की आजीवन सदस्यता लिए 23 सदस्य-सदस्या अौर बाक्सा जिला नेपाली साहित्य सभा अंतर्गत 9 शाखा समिति को परिचय कराकर अभिनंदन जताने के साथ ही प्रशंसा पत्र प्रदान किया गया.

इस कविगोष्ठी में कई कविओ ने कविता पाठ की. इस अनुष्ठान में केंद्रीय, जिला, शाखा की सदस्य-सदस्या के साथ ही बाक्सा जिला गोर्खा सम्मेलन के सचिब कृष्णराज संग्रौला, बाक्सा जिला गोर्खा छात्र संघ के सचिब माधव छेत्री के साथ ही बरिष्ट कवि साहित्यिक उपस्थित थे.

Mar 12, 2020 23:23:00 - मे प्रकाशित

अपना काँमेंट लिखें

सब