चपरासी के बेटे की जिंदगी वर्ल्ड चैंपियन कप्तान ने बदल दी, पीएम मोदी भी लेते हैं नाम!

चपरासी के बेटे की जिंदगी वर्ल्ड चैंपियन कप्तान ने बदल दी, पीएम मोदी भी लेते हैं नाम!

एक देश जिसने कभी टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला. एक देश जो क्रिकेट के मामले में काफी पिछड़ा हुआ है. एक देश जहां के खिलाड़ियों को गिने-चुने ही लोग जानते होंगे. उसी देश का एक खिलाड़ी आज पूरी दुनिया में ना सिर्फ क्रिकेट खेल रहा है, बल्कि अपनी गेंदबाजी से उसने लाखों लोगों को अपना मुरीद बनाया है. बात हो रही है नेपाल के लेग स्पिनर संदीप लामिछाने (Sandeep Lamichhane) की, जो महज 19 साल की उम्र में दुनिया की हर बड़ी क्रिकेट लीग में खेलते हैं. दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग आईपीएल हो या फिर ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश, ये खिलाड़ी हर जगह अपना लोहा मनवा चुका है. नेपाल के इस लेग स्पिनर ने अबतक 10 वनडे में 23 विकेट झटके हैं, वहीं टी20 इंटरनेशनल में उन्होंने 34 विकेट लिये हैं. संदीप लामिछाने का करियर अभी नया-नया शुरू हुआ है लेकिन ये खिलाड़ी करोड़ों लोगों के लिए मिसाल है. आइए आपको बताते हैं कैसे नेपाल का ये क्रिकेटर पूरी दुनिया में छाया, क्या रहा उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट

गरीब परिवार में पैदा हुए संदीप लामिछाने
संदीप लामिछाने (Sandeep Lamichhane) का जन्म 2 अगस्त, 2000 में नेपाल के सायनगजा में हुआ. लामिछाने एक गरीब परिवार में जन्मे, उनके पिता भारतीय रेलवे में काम करते थे और वो वहां चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी थे. पिता की सैलरी ज्यादा नहीं थी लेकिन फिर भी उन्होंने संदीप को किसी चीज की कमी नहीं होने दी. लामिछाने पिता के साथ भारत आए और उन्होंने चौथी क्लास तक हरियाणा में ही पढ़ाई की. इतनी छोटी उम्र में ही संदीप का सेलेक्शन हरियाणा की जिला स्तरीय टीम में हो गया था लेकिन इसके बाद उनके परिवार को नेपाल के चितवन वापस लौटना पड़ा. हालांकि सचिन तेंदुलकर और शेन वॉर्न का ये फैन रुका नहीं और चितवन क्रिकेट एकेडमी में उन्होंने ट्रेनिंग शुरू की जिसे नेपाल के पूर्व कप्तान राजू खडका चलाते थे.

May 15, 2020 21:07:39 - मे प्रकाशित

अपना काँमेंट लिखें

सब