बाल्टी नदी की भू-कटाव को लेकर शंकित नदी तटीय के जनता

बाल्टी नदी की भू-कटाव को लेकर शंकित नदी तटीय के जनता

बाक्सा जिले के 58 नंबर तामुलपुर बिधान सभा छेत्र अंतर्गत भारत–भुटान सीमावर्ती बाल्टी नदी की भू–कटाव को लेकर अभी चिंतित हुइ है 2 नंबर डोंगरगांव के जनता।गत चार सालो से बाल्टी नदी में ढह गया है घर जमीन।

चौथे पर्याकी लॉकडाउन चलते समय में बाक्सा जिले के भारत–भूटान सीमा की 2 नंबर डोंगारगांव के नदी तटीय के जनता चिंता में पड़ गया है। पड़ोसी राष्ट्र भूटान से बहकर आए बाल्टी नदी में गत सालो में भू–कटाव ने ले गया था घर, जमीन।

इलाको में आदिवासी समुदाय की 8 परिवार की गत चाँर सालो में 50 बिघा जमीन बाल्टीनदी में ढह गया है। जिसके फलस्वारुप अब उक्त परिवार के लोगो ने रात होनेकी आगे अपनी अपनी घर छोड़कर दुसरे की घर में आश्रय लेने जैसी परिस्थिति होनेकी बात पीड़ित लोगो ने बताइ।

उक्त घटना की बिषय लंबे समय से स्थानीय बिधायक तथा  बिभागीय अधिकारी को जानकारी देकर आए थे पर भू–कटाव जायजा लेकर भी किसी तरह की सहमती नही देनेकी स्थानीय लोगो ने आरोप लगाइ है।

उक्त इलाको में कई जनप्रतिनिधि की आगमन हुइ थी भू–कटाव की जायजा लेने केलिए पर भू–कटाव प्रतिरोध करने केलिए कोइ ब्यावस्था ग्रहण  नही करने की जनता ने आरोप की है। अति शिघ्र उक्त इलाको में भू–कटाव प्रतिरोध की ब्यावस्था करने केलिए अपील की है स्थानीय जनता ने।

May 25, 2020 10:08:48 - मे प्रकाशित

अपना काँमेंट लिखें

सब