अमेरिकी राजनीतिज्ञों के मनमाने फैसले पूरे विश्व के लिए खतरा

अमेरिकी राजनीतिज्ञों के मनमाने फैसले पूरे विश्व के लिए खतरा

कोविड-19 महामारी से पहले अमेरिका विश्व अर्थव्यवस्था का मुख्य इंजन था ,लेकिन अब वह विश्व के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गया है।रायटर्स के संवाददाता श्रीटी सर्कर ने एक हालिया रिपोर्ट में यह बात कही ।

कोविड-19 महामारी के प्रहार में अमेरिकी अर्थव्यवस्था लगातार नीचे गिर रही है ।दूसरी तिमाही में अमेरिका के जीडीपी में 32.9 प्रतिशत गिरावट आयी ।इधर कुछ दिन अमेरिकी डॉलर सूचकांक दो साल के सब से नीचे स्तर पर पड़ा है ।अमेरिका में इस मार्च से कुल 5 करोड़ 10 लाख लोगों ने अपनी नौकरी खो दी है ।एक महामारी के चलते अमेरिकी अर्थव्यवस्था का प्रदर्शन इतना खराब कैसे हो गया।

कई विश्लेषकों के विचार में मौजूदा अमेरिकी प्रशासन ने महामारी के मुकाबले में एक सबसे घातक और सब से हास्यास्पद गलती की यानी उस ने वायरस के प्रति वैज्ञानीक तरीके के बजाय राजनीतिक उपाय अपनाया ।ब्रिटिश अख़बार द गार्डियन ने 3 अगस्त को एक रिपोर्ट में दो टूक बात कही कि महामारी के बारे में अमेरिकी नेताओं के झूठ पाँच महीने तक चले हैं ,जो दयनीय स्थिति का मूल कारण है ।

Aug 05, 2020 19:17:15 - मे प्रकाशित

अपना काँमेंट लिखें

सब