जागरूक लोगों ने  लगायें पोस्टर: लाकडाउन में मेरे घर न आयें

 जागरूक लोगों ने  लगायें पोस्टर: लाकडाउन में मेरे घर न आयें

वैश्विक महामारी घोषित हो चुके कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देख जनपद के लोगों ने अपने घर न आने की सलाह दे रहे हैं। इतना ही नहीं, लोगों ने अपने-अपने घरों के दरवाजे पर बाकायदा पोस्टर लगा दिया है, जिसमें लिखा है कि कोरोना वायरस के रहने तक उनके घर न आयें।

फतेहपुर शहर के कलेक्टर गंज इलाके से लेकर मुस्लिम बहुल इलाकों में दरवाजे के बाहर लगे ऐसे पोस्टर देखे जा सकते हैं, जिसमे साफ-साफ लिखा है कि कृपया लॉकडाउन में मेरे घर न आए। इस बारे में अपने-अपने घर के बाहर पोस्टर लगाने वालों का कहना है कि कोरोना वायरस एक महामारी है देश को बचाने के लिए प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन का आह्वान किया है।

लॉकडाउन का देश के हर नागरिक को कड़ाई से पालन करना चाहिए, तभी कोरोना से बचा जा सकता। लोगों का कहना है कि लाकडाउन तक नाते- रिस्तेदारों को भी आने से रोका गया है। उन्होंने कहाकि जरूरी हो दूरभाष पर बातचीत करे। जिससे लाकडाउन का उलंघन भी नहीं होगा और खुद का जीवन भी सुरक्षित रहे और दूसरे के जीवन के लिए खतरा न बन सके।  चिपकाए गए पोस्टरों की अपील को काफी लोगों ने गंभीरता से लिया है और लोगों के घर पर आने जाने वालों में कमी आई है यहां तक अपने पडोसी को घर आने से रोक दिया गया।

Apr 03, 2020 15:54:24 - मे प्रकाशित

अपना काँमेंट लिखें

सब